(स्वच्छता पर निबंध) Swachhata Per Nibandh (2022)

दोस्तो अगर आप Swachhata Per Nibandh को तलाश है तो आज हम आपके लिए लेकर आए है Swachhata Par Nibandh स्वच्छ भारत अभियान एक अच्छी शुरुआत है अभी शुरुआत हुई है परिणाम आने बाकी है, पर हा आज बहोत बदलाव दिखता है लोग जागरूक हुए है हर जगह बदलाव दिखाई देता है कही कुछ कम तो कही कुछ ज्यादा हम भी अपने देश को विदेशों की तरह सुन्दर् ओर स्वच्छ देखना चाहते है।

तो हमने आपके लिए स्वच्छता पर निबंध हिंदी में उपलब्ध किया हैं । जिसे आप नीचे लेख मेे जाकर पढ़ सकते है।

Swachhata Per Nibandh ( 100 शब्द )

जीवन मे स्वच्छता का बहुत बड़ा हिस्सा है। क्योंकि स्वच्छता ही अच्छी आदत है जिससे हमें अच्छे स्वस्थ और स्वास्थ्य जीवन मिलता हैं। स्वच्छता मानव जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता हैं। अगर स्वच्छता का वातावरण होगा तो हम बीमारियों से आसानी से बच सकते हैं।

स्वच्छता जीवन की पहली प्राथमिकता हैं। मनुष्य स्वच्छता को अपने दिनचर्या का हिस्सा बनाना चाहिए । क्योंकि गंदगी की वजह से मानव जीवन की बहुत सी हानियां हैं। क्योंकि गंदगी बहुत ही खतरनाक बीमारियों का जन्म देती है।

हमे गंदगी नहीं फैलानी चाहिए। क्योंकि यहां हमे ही नुकसान पहुंच आती है । कूड़े डालने के लिए हमेशा कूड़ेदान का उपयोग करना चाहिए

स्वच्छता पर निबंध हिंदी में ( 600 शब्द )

प्रस्तावना:-

हमारे जीवन में स्वच्छता का बहुत बड़ा महत्व है । जहां स्वच्छता होती हैं वहीं अरोग्य होती हैं। आज के समय में अपने वातावरण को स्वच्छ रखना जरूरी हो गया है।

साफ सफाई हमारे जीवन का महत्वपूर्ण पहलू है। और स्वच्छता हमारे जीवन की प्राथमिकता भी है स्वच्छता जरूरी हैं क्योंकि साफ सफाई से हमारे आने वाले जीवन की परेशानियों से मुक्ति मिल जाती हैं। अगर इसके प्रति जागरूक करेंगे तो हमे एक स्वच्छ परिवेश मिलेगा।

स्वच्छता एक अच्छी आदत है जिसे हमें अच्छे स्वास्थ्य और स्वच्छ जीवन के लिए अपनाना चाहिए । स्वच्छता पुण्य का काम है। जिसे जीवन का स्तर बढ़ने के लिए हर एक व्यक्ति को इसका पालन करना चाहिए हमे अपनी स्वच्छता , पालतु जानवर की स्वास्थ्य, पर्यावरण की स्वच्छता, अपने आसपास की स्वच्छता , और अपने कार्यस्थल की स्वच्छता करनी चाहिए।

स्वच्छता का महत्व :-

स्वच्छता हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा रहता है । क्योंकि स्वच्छता के बिना हमारे जीवन में कुछ भी विकास नही हो सकता । इसलिए हमारे सभी प्रकार के स्वच्छताएं अनिवार्य हैं । जैसे स्वच्छता , पालतु जानवर की स्वास्थ्य, पर्यावरण की स्वच्छता, अपने आसपास की स्वच्छता , और अपने कार्यस्थल की स्वच्छता सभी शिक्षा व्यवस्था से स्वच्छता होना चाहिए ।

जीवन मे स्वच्छता का बहुत बड़ा हिस्सा है हम अपनी सफाई में रहने से हमारा मन बहुत साफ रहता और तरो ताजा महसूस करते हैं।

जीवन में स्वच्छता बनाये रखने के लाभ :-

स्वच्छता से हमे रहने के लिए अच्छी जगह मिलती है। शुद्ध वायु मिलती है। पीने के लिए साफ पानी मिलता है । हमारे आस पास किसी भी प्रकार की गंदगी नहीं फैलती। हम साफ सफाई से रहेंगे तो हमारी समाज में इज्जत भी होगी हम अपने गली मोहल्ले को साफ रखेंगे तो बीमारिया मच्छर नहीं होंगे ।

अगर हम अपने इलाके को सवच्छ रखेंगे तो हमारे यहा दूसरे लोग आएंगे और हमारी तारीफ होगी ।इसी प्रकार हम हमारे देश को सवच्छ रखेंगे तो विदेश में हमारे देश की तारीफ होगा.

और दोस्तों गावो में भी आज कल लोग अपने जानवरो को स्वच्छता रखते है उनकी रहने की जगह की साफ सफाई अच्छे से करते है तो इसका ये फायदा होता है की वो अच्छा दूधः देते है, और स्वस्थ रहते है

बीमारियों से भी बचाव होता है, हम देखते है साफ – सफा रखने वाले लोग कम बीमार पढ़ते है, यदि आप अपने घर को साफ और स्व्च्छ रखेंगे तो आपके घर से बीमारिया कोसो दूर रहेगी।

पैसो की बचत, जिस घर में बीमारिया नहीं होती वह पर पैसो की भी बचत होती है।

स्वच्छता संबंधी अभियान :-

महात्मा गांधी जी ने अपने आसपास के लोगों को स्वच्छता बनाए रखने संबंधी शिक्षा प्रदान कर राष्ट्र को एक उत्कृष्ट संदेश दिया था। उन्होंने “स्वच्छ भारत” का सपना देखा था जिसके लिए वह चाहते थे कि भारत के सभी नागरिक एक साथ मिलकर देश को स्वच्छ बनाने के लिए कार्य करें।

महात्‍मा गांधी के स्‍वच्‍छ भारत के स्‍वप्‍न को पूरा करने के लिए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 2 अक्‍टूबर 2014 को स्वच्छ भारत अभियान शुरू किया और इसके सफल कार्यान्वयन हेतु भारत के सभी नागरिकों से इस अभियान से जुड़ने की अपील की। ये अभियान एक सफल अभियान रहा बहुत लोग इससे जुड़े है।

निष्कर्ष :-

Swachhata Per Nibandh हमे स्वच्छता के ऊपर विशेष ध्यान देना चाहिए । स्वच्छता अच्छी आदत है हमें सब को अपनाना चाहिए । और स्वच्छता के प्रति बूढ़े बच्चे सभी को जागरूक करना चाहिए अपने घरों ,पालतु जानवर , नदियां, स्कूल , सबकी साफ सफाई में ध्यान देना चाहिए।

अन्य पड़े

Leave a Comment