(कोरोना वायरस पर निबंध ) Corona Ek Mahamari Essay In Hindi (2022)

हैलो दोस्तो स्वागत है आपका इस ब्लॉग में क्या आप Corona Ek Mahamari Essay In Hindi की तलाश कर रहे हो तो आप अभी सही जगह में हो क्योंकि यह आपको Corona Ek Mahamari Essay In Hindi और इसे जुड़ी सारी जानकारी आपको मिलने वाली है तो आप इस लेख को पूरा अंत तक पढ़े

जैसा कि आपको तो पता होगा कि कोरोनावायरस महामारी एक घातक महामारी रही है जिसने पूरी दुनिया को प्रभावित किया है। और लाखे की संख्या में लोगों की जान चली गईं इस भयंकर मंजर को आप सभी ने देखा है।

जैसा कि यह एक वायरस है और विभिन्न रूप से आते रहेंगे। इस वायरस ने इंसान की जीवनशैली को प्रभावित किया है और अर्थव्यवस्था को बुरी तरह प्रभावित किया है। इसलिए हिंदी पाठक्रम में यहां निबंध को शामिल किया गया है। आप नीचे चरण दर चरण निबंध को पढ़े और शेयर करना ना भूलें

कोरोना वायरस पर निबंध || Corona Ek Mahamari Essay In Hindi

कोरोनावायरस एक बहुत ही छोटा वायरस के कारण होने वाला एक संक्रामक रोग है। जिसको हमारी आंखे से देखना संभव नहीं हैं। जिसको देखने के लिए हमे मुख्य रूप से सूक्ष्मदर्शी उपकरण की जरूरत होती हैं। इसके संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्याएं उत्पन्न होती हैं। यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है। यह वायरस दिसंबर में सबसे पहले चीन में पकड़ में आया था।

1.प्रस्तावन

कोरोनावायरस(COVID19)की पहचान चीन के वुहान में 2019 में हुई थी और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर दिया है। कोरोना वायरस बहुत सूक्ष्म लेकिन प्रभावी वायरस है। कोरोना वायरस मानव के बाल की तुलना में 900 गुना छोटा है।

2.COVID19 का अर्थ क्या है

COVID-19: 2019 का कोरोनावायरस रोग। यह संक्षिप्त नाम विश्व स्वास्थ्य संगठन या WHO द्वारा बनाया गया था। यह कोरोनावायरस SARS-CoV-2 के कारण होने वाली सांस की बीमारी के लिए है।

3.कोरोना वायरस उत्पत्ति

दिसंबर 2019 में वुहान, चीन में दिखाई देने वाले पहले बड़े क्लस्टर के साथ नवंबर 2019 में वायरस पहली बार छोटे पैमाने पर दिखाई दिया। सार्स-कोव-2 वायरस, जो कोविड -19 का कारण बनता है, उसकी सबसे ज्यादा संभावना है कि वो चमगादड़ में पैदा हुआ था और फिर अभी तक अज्ञात मध्यस्थ जानवर के माध्यम से मनुष्यों में फैल गया। जिसके बाद यह पूरी दुनिया में फैलना शुरू हुआ। इससे आज तक पूरी दुनिया परेशान है

4.कैसे फैलता है कोरोना वायरस

पहले से इस बिमारी से पीडित लोगो से नज़दीकी बनाये रखने से यह वायरस फैलता है | जब इस बीमारी के मरीज़, के खांसने से या छींकने से आती बूंदों के गिरने के स्थान या वस्तु के साथ संपर्क करके, अपने आँखों को या नाक को या मुँह को छूने से यह वायरस शरीर मे प्रवेश करता है | इन बूंदों को सांस लेने से भी यह वायरस के शिकार बन्न सकते है

5.कोरोना वायरस रोकने के लिए लॉकडाउन

विश्वभर के विषेषज्ञ डॉक्टरों का मानना है की कोरोना वायरस की लाइफ 9 दिन से लेकर 28 दिन तक की होती है तो ऐसे में अगर पूरा विश्व जहाँ है वहीँ पर रहे तो कोरोना वायरस की लाइफ खत्म हो जायेगी और उसकी नई चैन नहीं बन पाएगी ऐसे में कोरोना वायरस पूरी तरह से खत्म होने में संभव है। इसलिए अनेक देशो ने कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए लॉकडाउन लगाया है जिनमे भारत देश भी उन देशो में शामिल है

6.भारत में कोरोना वायरस कब आया

भारत में सबसे पहले कोरोना वायरस से संक्रमण का मामला 30 जनवरी 2020 को दक्षिण भारत के केरल में सामने आया था वायरस से संक्रमण का पहला शिकार 20 साल की युवती थी वह युवती 25 जनवरी 2020 को चीन के वुहान शहर से लौटी थी जहां से इस खतरनाक वायरस की शुरूआत मानी जाती है।

7.कोरोना वायरस के लक्षण (Symptoms)

अगर कोई व्यक्ति कोरोना वायरस के संपर्क में आया है तो यह कुछ लक्षण उसके शरीर में दिखाई देने लगाते जैसे –

1.कोविड के शुरुआती लक्षण है –
हल्का बुखार
सर दर्द
सर्दी
खांसी

2.कोविड के गम्भीर लक्षण है –
सांस लेने मे दिक्कत या सांस फलना
ओक्सिजन का कम होना
स्वाद ना आना
सीने मे दर्द होना
कमजोरी महसूस होना

कोरोना से बचाव के उपाय (Treatment)

कोविड-19 से बचाने के उपाय :

• दूसरों से सुरक्षित दूरी (कम से कम 1 मीटर) बनाए रखें, भले ही वे बीमार न हों.

• सार्वजनिक स्थानों पर मास्क लगाएं, खास तौर पर इमारत के भीतर या जब शारीरिक दूरी बनाना संभव न हो।

• बंद जगहों की बजाय खुली, हवादार जगहें चुनें अगर किसी इमारत के भीतर हैं, तो खिड़कियां खोलें।

• हाथों को बार-बार धोएं. हाथ धोने के लिए, साबुन और पानी या एल्कोहल वाला हैंड रब इस्तेमाल करें।

• अपनी बारी आने पर टीका लगवाएं. टीकाकरण के बारे में स्थानीय निर्देश फ़ॉलो करें।

*खांसने या छींकने पर अपनी नाक और मुंह को कोहनी या रूमाल से ढंक लें.

• अगर आप अस्वस्थ महसूस कर रहे हैं, तो घर पर ही रहें।

कोरोना वायरस का प्रभाव

कोरोना वायरस के कारण केवल भारत ही नहीं बल्कि पुरे विश्व पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ा है एक तो पुरे विश्व में लॉकडाउन की वजह से अनेक देशों की अर्थव्यवस्था में काफी गिरावट आई है। इसके आलवा पुरे विश्व में 16.6 करोड़ कोरोना संक्रमित लोग मिले है उनमे से करीब 34.4 लाख लोगों की मृत्यु हो गई है

अकेले भारत में 2.63 करोड़ संक्रमित मरीज मिले है इनमे 2.96 लाख मरीजो की मृत्यु हो गई है 2.31 करोड़ भारतीय मरीज इस वायरस से रिकवर हो गये हैं इस वायरस की वजह से पूरी दुनिया का हर एक देश प्रभावित है

कोरोना वायरस की वजह से आमजन भी काफी परेशान है क्योंकि लोगों के रोजगार खत्म हो गये है कमाई का कोई जरिया नहीं बचा है। देश की अर्थव्यवस्था डगमगा गई है इसके साथ महंगाई ने आमजन की कमर तोड़ दी है

कोरोना से रोकथाम

कोरोना से रोकथाम के लिए कुछ नियम जीने माध्यम से कोरोना का रोकथाम कर सकते है:

अपने हाथों को कुछ समय के अंतर नियमित साफ करें। साबुन और पानी का उपयोग करें, या अल्कोहॉल आधारित सैनीटाइज़र से हाथ रगड़ें।

खांसने या छींकने पर अपनी नाक और मुंह को अपनी मुड़ी हुई कोहनी या एक टिश्यू से ढक लें।

COVID-19 से पीडित लोग से या खांसी या छींकने वाले किसी से भी सुरक्षित दूरी बनाए रखें।

आप अस्वस्थ महसूस करते हैं तो घर पर रहें। अपने बर्तन, गिलास और बीएड किसी से शेयर ना करे |

आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई होती है, तो इलाज कराएं।

ज़्यादा इस्तेमाल करने वाले जगहों को नियमित तरीके से डिसइंफेक्टेंट से साफ़ करते रहे।

अगर आप बीमार है, तोह पब्लिक जगहों से दूर रहे जैसे कि स्कूल, ऑफिस आदि।

अपने स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के निर्देशों का पालन करें।

11.निष्कर्ष

तो दोस्तो उम्मीद करते हैं आपको हमारा लिखे Corona Ek Mahamari Essay In Hindi पसंद आया होगा तो शेयर जरूर करे

अन्य पड़े

Leave a Comment