बिहार की राजधानी कहां है? – Bihar Ki Rajdhani Kya Hai

नमस्कार दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम Bihar Ki Rajdhani Kya Hai के बारे में जानकारी देखने जा रहे हैं। बिहार उत्तर भारत का एक राज्य है। तो आप सही जगह आए हो क्योंकि हम इस लेख में Bihar Ki Rajdhani Kya Hai के बारे में सारी जानकारी देने वाले हैं तो आप इस लेख को जरूर अंत तक पढ़े

आज इस लेख में हम आपको Bihar Ki Rajdhani Kya Hai के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दे रहे हैं बिहार की राजधानी कब बनी, बिहार पर किस राजवंश का शासन था? आइए जानें बिहार के भूगोल, इतिहास, कृषि, उद्योग, यदि के बारे में जानेंगे।

Bihar Ki Rajdhani Kya Hai/बिहार राज्य की पूरी जानकारी

बिहार भारत के उत्तर-पूर्वी भाग में स्थित एक प्रसिद्ध ऐतिहासिक राज्य है और इसकी राजधानी पटना है यह जनसंख्या के मामले में भारत का तीसरा सबसे बड़ा और क्षेत्रफल के मामले में बारहवां (12) है।

15 नवंबर 2000 को, बिहार के दक्षिणी भाग से झारखंड का नया राज्य बनाया गया था। इसकी सीमा उत्तर में बिहार, उत्तर में नेपाल, दक्षिण में झारखंड, पूर्व में पश्चिम बंगाल और पश्चिम में उत्तर प्रदेश से लगती है।

यह क्षेत्र गंगा नदी और उसकी सहायक नदियों के उपजाऊ मैदानों में स्थित है। इसमें गंगा पश्चिम से पूर्व की ओर बहती है। बिहार भारत के सबसे बड़े राज्यों में से एक है।

बिहार राज्य का इतिहास

बिहार विहार का भ्रष्ट रूप है। मुस्लिम आक्रमणकारियों ने इस क्षेत्र में विशेष रूप से उदंडपुर (वर्तमान बिहारशरीफ) के पास बौद्ध विहारों की प्रचुरता को देखकर इसे यह नाम दिया। प्राचीन काल में, गंगा के उत्तर में विदेह, दक्षिण में मगध और पूर्व में अंग आधुनिक बिहार का हिस्सा थे।

ऋग्वेद में मगध का उल्लेख विकोट के रूप में मिलता है। शतपथ ब्राह्मण में विदेह का उल्लेख है। अथर्ववेद, यजुर्वेद के संदर्भों से ऐसा प्रतीत होता है कि वैदिक आर्य इस क्षेत्र को विदेशी मानते थे। धीरे-धीरे इस क्षेत्र आदि में आर्य संस्कृति का प्रसार हुआ। एस। ईसा पूर्व एमएस। इसकी शुरुआत एक हजार साल पहले हुई होगी। इसकी शुरुआत उत्तर बिहार से हुई थी।

रामायण-महाभारत महाकाव्यों में इस राज्य के बारे में कई उल्लेख मिलते हैं। किंवदंती है कि जरासंध ने मगध की एक समय की राजधानी गिरिव्रजा (राजगृह या राजगीर) में पाए जाने वाले विशाल कोट का निर्माण किया था। रामायण में उल्लेख है कि गिरिव्रज की स्थापना विदेह के राजा जनक ने की थी और राजधानी मिथिला शहर का वर्णन किया गया है।

बिहार के बाबू कुंवर सिंह ने 1857 के प्रथम सिपाही विद्रोह में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 1905 में बंगाल के विभाजन के परिणामस्वरूप बिहार राज्य अस्तित्व में आया। 1936 में उड़ीसा का निर्माण किया गया था।

बिहार में चंपारण विद्रोह को स्वतंत्रता संग्राम में अंग्रेजों के खिलाफ विद्रोह के प्रसार की प्रमुख घटनाओं में से एक माना जाता है। आजादी के बाद बिहार में एक और विभाजन हुआ और 15 नवंबर 2000 को झारखंड राज्य इससे अलग हो गया। भारत छोड़ो आंदोलन में भी बिहार ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

बिहार राज्यों में मिट्टी और फसलें

राज्य के उत्तरी भाग में मिट्टी पीली बांगर या पुरानी गाद है और अक्सर बजरी के साथ मिश्रित होती है। निचले इलाकों में गंगा की सहायक नदियों की बाढ़ से हिमालय से निकली गाद होती है।

छोटा नागपुर पठार पर बजरी और गाद के साथ मिश्रित लाल मिट्टी दिखाई देती है। उत्तर की भूमि ज्यादातर उपजाऊ और खेती योग्य है।

चावल, गेहूं, दालें, मक्का, तिलहन, तंबाकू, सब्जियां और कुछ फल जैसे केला, आम, लीची की खेती की जाती है। हाजीपुर का केला और मुजफ्फरपुर की लीची बहुत प्रसिद्ध है।

बिहार राज्य की भाषा

हिंदी बिहार की राजभाषा है और उर्दू दूसरी राजभाषा है।
भोजपुरी, मैथिली, माघी, बज्जिका और अंगिका यहां की स्थानीय भाषाएं हैं।

मैथिली भारत के संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल एकमात्र बिहारी भाषा है। कुछ आदिवासी लोग बिहार राज्य में रहते हैं। वे हमारी अपनी कुछ भाषाएँ बोलते हैं।

बिहार राज्य की संस्कृति

प्रमुख त्योहारों में छठ, होली, दिवाली, दशहरा, महाशिवरात्रि, नाग पंचमी, श्री पंचमी, मुहर्रम, ईद और क्रिसमस शामिल हैं। सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह की जन्मस्थली होने के कारण पटना (पटना) का शहर भी उनकी जयंती पर कोटि-कोटि नमन करता है। बिहार सबसे पहले हिंदी को राज्य की आधिकारिक भाषा मानता है।

निष्कर्ष

आज की पोस्ट में हमने हरियाणा राज्य की जानकारी Bihar Ki Rajdhani Kya Hai के बारे में जाना Bihar Ki Rajdhani Kahan Hai हमे कमेंट में बताएं कि आपको कैसा लगा।

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें। हर दिन कुछ नया सीखने के लिए हमारे ब्लॉग पर फिर से आना न भूलें

अन्य पड़े –

Leave a Comment