Aatankwad Par Nibandh

दोस्तो अगर आप Aatankwad Par Nibandh तलाश में हो तो आप सही लेख मेे आए हैं। हमने आपके लिए Essay On Aatankwad In Hindi उपलब्ध किया हैं ताकि आपको बेहतरीन आतंकवाद पर निबंध लेख मिल सके तो पढ़िए नीचे लेख मेे ।

आतंकवाद पर निबंध / Aatankwad Par Nibandh ( 250 शब्द )

आतंकवाद दो शब्द से मिलकर बना है। आतंक + वाद जिसमें आतंक का अर्थ होता है डर या भय और वाद का अर्थ होता हैं। पद्धति गैर कानूनी तरीके से समाज को अपनी को कुकृतियां से भयभीत कर देने को आतंकवाद कहते है।

आतंकवाद एक ऐसी समस्या है जिसके भारत देश काफी वर्ष से देखते आ रहा है। आतंकवाद एक हिंसक व्यवहार है। जो सम्मान और उसके बड़े भाग में राजनीतिक उद्देश्य से पैदा करने के इरादे से किया जा रहा है।आतंकवाद का समर्थन करने वाले आतंकवादी अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए विभिन्न सामाजिक संगठन , राजनैतिक दल ,और व्यवसाय उद्योगों के द्वारा आतंकवाद का उपयोग करते हैं। और शांति को खंडित करते है।

आतंकवाद हिंसा का गैर-कानूनी कार्य है जिसका उपयोग आतंकवादियों द्वारा लोगों को डराने-धमकाने के लिए किया जाता है। आतंकवाद एक आम सामाजिक मुद्दा बन गया है। इसका इस्तेमाल आम जनता और सरकार को डराने-धमकाने के लिए किया जाता है।

विभिन्न सामाजिक संगठनों, राजनेताओं और व्यावसायिक उद्योगों द्वारा अपने लक्ष्यों को बहुत आसान तरीके से प्राप्त करने के लिए आतंकवाद का उपयोग किया जाता है। आतंकवाद का समर्थन करने वाले लोगों के समूह को आतंकवादी के रूप में जाना जाता है।

आतंकवाद पर निबंध || Essay On Aatankwad In Hindi

Aatankwad Par Nibandh / प्रस्तावना :-

आज आतंकवाद दुनिया की समस्याओं में से एक है। जिससे पूरा विश्व इस समस्या से जूझ रहा है। आज हम देखते हैं। दुनिया का कोज भी ऐसा देश नहीं है जो कह सके कि हमारी सुरक्षा इतनी अच्छी है। कि हम आतंकवाद से त्रस्त नहीं हैं। सच में कोई भी देश इस बारे में सोचने के काबिल नहीं है। वे आगे क्या योजना बना रहे हैं और उनका अगला लक्ष्य कौन होगा और वह किस देश को हिलाने वाली है

आतंकवाद के मुख्य उद्देश्य :-

आतंकवाद का मुख्य उद्देश्य यह है कि आतंकवाद और अपनी हिंसा के माध्यम से आम जनता में भय और आतंक फैलाते हैं। यह उद्देश्य राजनीतिक, धार्मिक और आर्थिक नहीं है। बल्कि यह सामाजिक या किसी अन्य प्रकार का हो सकता है। और इन सबका खामियाजा निर्दोष और निर्दोष लोगों को भुगतना पड़ रहा है. जिनमें से कई लोगो का भारी नुकसान चुकाना पड़ता हैं।

आतंकवाद के प्रकार :-

आतंकवाद कई प्रकार का होता है। लेकिन मुख्य रूप से ऐसे तीन हैं। जिसे सारी दुनिया पीड़ित है

अफगानिस्तान के तालिबान परिसंघ राजनीतिक आतंकवाद के अधीन हैं। इसके अलावा अलकायदा, लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद आदि संगठन धार्मिक आतंकवाद के दायरे में आते हैं। भारत में नक्सली सामाजिक और आर्थिक कारणों से गैर-राजनीतिक आतंकवाद के अंतर्गत आते हैं

भारत में आतंकवाद :-

सारी दुनिया आतंकवाद से जूझ रही है। लेकिन अगर भारत का नाम आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में आता है। इसका प्रमुख कारण है। भारत में पड़ोसी देश पाकिस्तान।

इसका विशेष कारण है कश्मीर का मुद्दा दोनों देश कश्मीर में अपना हक मानते हैं। जिसके लिए पाकिस्तान हर समय सीजफायर, सीजफायर आदि का हर समय हमला करता रहता है। क्योंकि बदले में भारत उन्हें करारा जवाब देता है। जिसके कारण वह कश्मीर में अपना हक स्थपित नहीं कर पा रहा इसलिए वहां आतंकवाद का सहारा लेता है। जिसके चलते भारत में कई बार आतंकी हमले हो चुके हैं।

आतंकवाद का परिणाम :-

आतंकवाद बहुत जायदा खराब चीज है। जिससे लोग इससे काफी बुरी तरह प्रभावित होते है। आतंकवाद के कारण बहुत से लोग अनाथ और विकलांग हो जाते हैं। आतंकवाद के कारण ऐसे कई लोग हैं। जो खुद को सुरक्षित नहीं समझते हैं। साथ ही वे हमेशा भयभीत रहते हैं। आतंकवाद के कारण ऐसे कई गरीब और बेरोजगार युवा हैं। जिसका आतंकी संगठन फायदा उठाते हैं। और उन्हें आतंकवाद के अंधे कुएं में कूदने के लिए उकसाते हैं।

आतंकवाद की समस्या रोकने के उपाय :-

आतंकवाद को खत्म करने का यह सबसे अच्छा तरीका है। लोगों की गरीबी और बेरोजगारी को दूर करने के लिए। आजकल ऐसे कई क्षेत्र हैं। जिसमें लोग गरीबी और बेरोजगारी के कारण नक्सलवाद का सहारा लेते हैं। ऐसे क्षेत्रों की पहचान करना और उन्हें उनका अधिकार देना अधिक सही होगा।

Aatankwad Par Nibandh/निष्कर्ष :-

आतंकवाद की समस्या के समाधान के लिए भारत सरकार को कड़े कदम उठाने होंगे। और पाकिस्तानी घुसपैठ को रोकने के लिए राज्यों पर प्रशासनिक पकड़ और मजबूत की जाए। पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय वार्ता के अलावा जरूरत पड़ने पर पाकिस्तान के खिलाफ कड़े कदम उठाने होंगे।

अन्य पड़े

Leave a Reply

Your email address will not be published.